Dewas Live
देवास की ख़बरें सबसे विश्वसनीय सबसे तेज़

दुष्‍कर्म पीड़िता का दर्द: जिंदा लाश हो गई हूं पर सवाल करती निगाहों का दूंगी जवाब

सागर: गैंगरेप पीड़िता की अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत यह भी पढ़ें style="text-align: justify;">धार, नईदुनिया। मध्‍य प्रदेश के धार जिले स्थित धामनोद के पंधानिया मंदिर में छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया था। घटना के बाद पीड़िता ने दर्द साझा किया है, जिसने कहा कि लगता है मैं जिंदा लाश हो गई हूं, लेकिन इसके बाद भी मैं पढ़ाई जारी रखूंगी। सवाल करती हर निगाह को जवाब दूंगी। शारीरिक के साथ ही मेरा मानसिक दुष्कर्म भी हुआ है।
पीड़िता ने कहा कि घटना के बाद मेरा सामाजिक तानाबाना बदल गया है। 10 दिन पहले मेरा जीवन भी अन्य लड़कियों की तरह ही सामान्य था। रोजाना कॉलेज जाना..दोस्तों के साथ जिंदगी को संवारने के लिए सपने बुनना..नौकरी के ख्वाब देखना। वे सभी सपने देखना, जो एक सामान्य लड़की देखती है, लेकिन 4 फरवरी की घटना ने मेरी आत्मा को अंदर तक झकझोर दिया है।
पीड़िता ने आगे कहा कि लोगों की नजरें कई सवाल करती हैं। रिश्तेदार और सभी लोग मिलने आते हैं। सांत्वना देते हैं। आरोपियों को तो कानून सजा देगा, लेकिन मानसिक रूप से हुई क्षति से उबरना मेरे लिए मुश्किल लगता है। हालांकि घर वाले हिम्मत टूटने नहीं देते हैं। दो भाई हैं। पढ़ लिखकर मां-बाप का सहारा बनने का सपना है, इसलिए इस घटना के बाद भी मैं पढ़ाई नहीं छोडूंगी। नौकरी भी करूंगी। फिर भी अभी घर से बाहर आंगन तक जाती हूं तो मन में डर रहता है।
पीड़िता ने कहा कि उस मंजर को याद कर मेरी रूह कांप जाती है। नींद खुलने पर पलंग पर उठकर बैठ जाती हूं। जवाब देकर थक गई हूं मैं जानने वालों को सवालों के जवाब देते-देते थक गई हूं। सवाल पूछने वाले कई लोगों को मेरे जीवन को झकझोर देने वाली इस दरिंदगी का अंदाजा भी नहीं होता है। जिस हैवानियत से मैं गुजरी हूं, भगवान से दुआ करती हूं कि किसी को ऐसी दरिंदगी से नहीं गुजरना पड़े। आरोपियों को ऐसी सजा हो कि ऐसे मंसूबे पालने वाले भी अपना इरादा बदल लें।
मुख्यमंत्री ने की 8 लाख देने की घोषणा
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पीड़िता को 8 लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है। धामनोद के विधायक कालूसिंह ठाकुर ने बताया कि छात्रा और परिवार की पीड़ा को लेकर वह भोपाल में मुख्यमंत्री से मिले थे। प्रथम किस्त के रूप में 4 लाख 25 हजार रुपए शीघ्र दिए जाएंगे। रकम सीधे पीड़िता के बैंक खाते में जमा होगी। एक माह में राशि का भुगतान किया जाएगा।
ये था मामला
गौरतलब है कि 4 फरवरी को पंधानिया गांव के मंदिर में अपने दोस्त का इंतजार कर रही छात्रा से तीन आरोपियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। छात्रा मूलत: खरगोन जिल की रहने वाली है। पुलिस ने घटना के दूसरे दिन ही तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

By Pratibha Kumari

Original Article