पीएम मोदी ने लालू का नाम लिए बिना कहा, भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई जरूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. सार्वजनिक जीवन में स्‍वच्‍छता के साथ भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई जरूरी:पीएम
  2. 'जनता को ये भरोसा दिलाना ही होगा कि हर नेता दागी नहीं'
  3. 'हर राजनीतिक दल की जिम्‍मेदारी है कि वे भ्रष्ट नेताओं को अलग-थलग करें'

नई दिल्ली: भ्रष्टाचार के खिलाफ एकजुटता की अपील करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि हर राजनीतिक दल की जिम्‍मेदारी है कि वह अपने बीच मौजूद दागी नेताओं को पहचाने और उन्‍हें अपने दल की राजनीतिक यात्रा से अलग करे. उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जीवन में भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई आवश्‍यक है.
आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव एवं उनके परिवार के कुछ सदस्यों के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के मामले और ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के कुछ नेताओं के खिलाफ अनियमितताओं के मामलों की विभिन्न एजेंसियों द्वारा जांच किए जाने के मद्देनजर प्रधानमंत्री का यह बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है.
(यह भी पढ़ें : बिहार पर अमित शाह के इस बयान से बढ़ सकती है लालू प्रसाद यादव की टेंशन!)
सोमवार से शुरू होने वाले संसद सत्र से पहले बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कई दशकों में नेताओं की साख हमारे बीच के ही कुछ नेताओं के बर्ताव की वजह से कठघरे में है. हमें जनता को ये भरोसा दिलाना ही होगा कि हर नेता दागी नहीं, हर नेता पैसे के पीछे नहीं भागता, इसलिए सार्वजनिक जीवन में स्‍वच्‍छता के साथ ही भ्रष्ट नेताओं पर कार्रवाई भी आवश्‍यक है.
वीडियो
प्रधानमंत्री ने कहा कि हर राजनीतिक दल की जिम्‍मेदारी है कि वह अपने बीच मौजूद ऐसे नेताओं को पहचाने और उन्‍हें अपने दल की राजनीतिक यात्रा से अलग करता चले. कानून अगर अपना काम कर रहा है, तो सियासी साजिश की बात करके बचने का रास्‍ता देख रहे लोगों के प्रति हमें एकजुट होकर काम करना होगा. भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कार्रवाई पर उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने देश को लूटा है, उनके साथ खड़े रह कर देश को कुछ हासिल नहीं होगा.
(इनपुट भाषा से)
Read Source


Times Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...