BSE में छोटी कंपनियों ने तीन साल में दिया 72 प्रतिशत तक रिटर्न

मुंबई: बंबई शेयर बाजार के स्मॉल कैप इंडेक्स ने तीन वर्ष में 72 प्रतिशत रिटर्न दिया और इस मामले में सेंसेक्स और बड़ी कंपनियों के सूचकांक को पीछे छोड़ दिया है.
एस एंड पी डाउ जोन्स इंडिसेस के 31 मार्च 2017 को समाप्त तीन साल के आंकड़ों के अनुसार बीएसई के स्मॉल कैप सूचकांक ने 72.11 प्रतिशत दिया. एस एंड पी बीएसई स्मॉल कैप सेलेक्ट सूचकांक ने 66.86 प्रतिशत रिटर्न दिया. इस सूचकांक में उन 60 कंपनियों के शेयर शामिल हैं, जिन्हें आसानी से बाजार में बेचा जा सकता है.
वहीं दूसरी तरफ प्रमुख कंपनियों के सूचकांक सेंसेक्स और एस एंड पी बीएसई लार्ज कैप कंपनियों ने आलोच्य अवधि में क्रमश: 34.24 प्रतिशत तथा 38.56 प्रतिशत का रिटर्न दिए.
एस एंड पी बीएसई इंडिसेस के एसोसिएट निदेशक (उत्पाद प्रबंधन) वेद मल्ला ने कहा, '31 मई, 2017 को समाप्त तीन साल में एस एंड पी बीएसई स्मॉल कैप तथा एस एंड पी बीएसई स्मॉल कैप सेलेक्ट का रिटर्न एस एंड पी बीएसई लार्ज कैप तथा एस एंड पी बीएसई सेंसेक्स से कहीं अधिक है.'
एक साल के प्रदर्शन को देखा जाए तो स्मॉल कैप सूचकांक ने 31 मई को समाप्त एक वर्ष में बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. इस दौरान स्मॉल कैप सूचकांक का रिटर्न 36.22 प्रतिशत, जबकि एस एंड पी बीएसई स्मॉल कैप सेलेक्ट का रिटर्न 30.89 प्रतिशत रहा. बड़ी कंपनियों के शेयर ने इस दौरान 20.78 प्रतिशत, जबकि सेंसेक्स कंपनियों ने 18.22 प्रतिशत रिटर्न दिए.
(.)
Read Source


Times Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...